बिहार राज्य सेवा प्राधिकार ने लागु की कई योजना

बिहार राज्य सेवा प्राधिकार ने लागु की कई योजना

बिहार राज्य सेवा प्राधिकार एक ऐसी संस्था है,जहां रेप से पीड़ित ,एच आई वी से संक्रमित व्यक्ति या किसी भी प्रकार के कैंसर से पीड़ित व्यक्ति या ट्रान्सजेंडर या एसिड हमले से पीड़ित या जिसकी सलाना आय 1.50 लाख रुपये से कम हो । ये संस्था इन लोगो को वकील मुहैया करवाती है इन लोगो मुआवजा दिलाने का काम करती है।

ये संस्था कुछ इस प्रकार के मुद्दे – मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण वाद, वैवाहिक विवाद, श्रम विवाद, भूमि अधिग्रहण के मामले , राजस्व मामले ,विधुत तथा पानी संबंधित विवाद , वेतन भत्ता सेवानिवृति लाभ से संबंधित एवं अन्य मामलो पर काम करती है।

ये संस्था आम लोगो को इंसाफ दिलवाने के लिए गठित की गयी है। जिसमे आम लोगो को या समुदाय के कमजोर वर्ग को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

इस संस्था के तरफ से नि:शुल्क विधिक सेवा ‘न्याय समाधान की स्थापना की गयी है। जिसका उद्देश्य – विविध विधिक सेवाएँ के एक केंद्र पर उपलब्ध कराना , विधिक सेवाओ के लाभाथियों को उनके वादे की अधतन जानकारी, विधिक सलाह एवं सहायता देना, नालसा केंद्र / राज्य सरकार आदि के योजनाओ की जानकारी देना और विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भी विभिन्न जिलो के जेल से संपर्क स्थापित कर बंदियो को कानूनी सलाह एवं सहायता पैनल आधिवक्ताओ के माध्यम से देना।

इस संस्था के तरफ से कई ऐसे योजनाऐ चलाई जा रही रही है। जिसमे नालसा की योजना , ड्रग्स से पीड़ितो के लिए योजना चलाई जा रही है । बिहार राज्य सेवा प्राधिकार इस तरह की मुहिम लगातार चला रही है।

SEE ALSO  बिहार को मिली 8000 किलोमीटर सड़क की सौगात 

नालसा योजना जिसमे तस्करी और वाणिज्यक यौन शोषण पीड़ितो के लिए विधिक सेवाएँ , मानसिक रूप से बीमार और मानसिक रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए विधिक सेवाएँ ,बच्चो को मत्रीपूर्ण विधिक सेवाएँ और उनके संरक्षण के लिए विधिक सेवाएँ ,गरीबी उन्मूलन योजनाओ के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु विधिक सेवाएँ ,आदिवासियो के अधिकारो का संरक्षण के लिए विधिक सेवाएँ और अन्य सेवाएँ पर काम करती है।

इस संस्था ने ड्रग्स के पीड़ितो के लिए योजना बनाई है और उसका लक्ष्य है – सोसाइटी के लोगो को ड्रग्स दुरुपयोग के दुष्प्रभाव के विषय मे जागरूक करना , माता – पिता एवं शिक्षको तथा विधाथियों को ड्रग्स के दुरुपयोग के बारे मे जागरूक करना , ड्रग्स तस्करी एवं ड्रग्स दुरुपयोग के पीड़ितो को आवश्यक सेवा देना । नशा मुक्ति केन्द्रो , सुधार गृह ,किशोर गृह, वृद्धाश्रमों , नारी निकेतनो , न्यायालयों मे कार्यरत कर्मचारीगण, इत्यादि को ड्रग्स से होने वाले खतरे के बारे मे बताना और उनको ड्रग्स के मामले मे संवेदनशील बनाना ।

जिससे लोगो को ड्रग्स लेने की लत छूट जाए और वो खुशहाल जीवन की तरफ रूख करे ।  बिहार राज्य सेवा प्राधिकार संस्था जिस तरह का मुहिम चला रही वो काबिले तारीफ है। जिससे लोग अपना जीवन व्यापन सुरक्षित ढंग से कर सके ।

 

उज्जवल

Newsnet Intern

Leave a Reply

Your email address will not be published.