छात्रों को मिलेगी हेल्थ एक्टिविटी कार्ड

छात्रों को मिलेगी हेल्थ एक्टिविटी कार्ड

अब तक स्कूलों में सिर्फ कान , आँख और दाँत की ही मेडिकल जांच होती थी। जांच के आधार पर छात्रों को हेल्थ कार्ड दिए जाते थे। लेकिन अब पूरे शरीर की जांच के बाद , छात्रों को हेल्थ कार्ड नहीं बल्कि फिजिकल हेल्थ एक्टिविटी कार्ड दिए जायेंगे। इस कार्ड में स्वास्थ्य से जुड़ी चीज़ों की सारी जानकारी रहेगी।

सी.बी, एस. ई. ने सभी स्कूलों को इस विषय पर सर्कुलर भी जारी किया है। सर्कुलर के साथ -साथ ही स्कूलों को हेल्थ एक्टिविटी कार्ड का फॉर्मेट भी दिया गया है। फ़िलहाल ये शुरुआत सिर्फ 9 वी से 12 वी तक के छात्रों के लिए किया जा रहा है।

सी. बी. एस. ई के इस नए सर्कुलर के अनुसार हेल्थ और फिजिकल के क्लास हर दिन लेना अनिवार्य कर दिया गया है।इसके तहत सभी स्कूलों को रोज़ एक पीरियड हेल्थ और फिजिकल एजुकेशन का क्लास रखना अनिवार्य होगा। कच्छा 9 वी से 12 वी तक के लिए इस सत्र 2018 -19 से ही लागू किया गया है।

सी. बी.एस.ई. की माने तो सभी छात्रों के लिए ये अनिवार्य होगा। बोर्ड परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्रों का रजिस्ट्रेशन करना होगा। रजिस्ट्रेशन के लिए जो एल. ओ. सी. (लिस्ट ऑफ़ कैंडिडेट्स )तैयार होगा , उसमे हेल्थ कार्ड रिपोर्ट की जानकारी देनी होगी।

फिजिकल हेल्थ एंड एक्टिविटी कार्ड में होंगी ये जानकारियां

  1. छात्र /छात्रा का आधार कार्ड न. .
  2. नामांकन संख्या तथा जन्म तिथि
  3. माता -पिता की हाइट , वजन और ब्लड ग्रुप
  4. माता – पिता का आधार कार्ड न.

हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन में क्या -क्या होगा शामिल हेल्थ एंड फिजिकल एजुकेशन में एथेलेटिक्स ,स्विमिंग ,योगा , डांस , जॉगिंग ,जिम एक्टिविटी ,बॉडी लॉन जैसी चीज़ें शामिल की गयी है।

 

शिवांशु सिंह सत्या

न्यूज़नेट इनटर्न

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.