9 अगस्त : विश्व आदिवासी दिवस

9 अगस्त : विश्व आदिवासी दिवस

पूरे विश्व मे 9 अगस्त को आदिवासी दिवस समारोह मनायी जाती है। मध्य प्रदेश के बड़वानी जिला के निवासी गजानन्द ने संयुक्त राष्ट्र मे आदिवासियों के आधिकारो के हनन का मुद्दा उठाया था। जुलाई 1993 मे गजानन्द ने अपने प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते हुए आदिवासियों के उपर हो रहे अत्याचार और उनके हनन के मुद्दे को जोरशोर से उठाया था, जिसके बाद ही विश्व आदिवासी दिवस मनाये जाने की घोषणा की गयी।
आज का दिन आदिवासी समुदाय के लोगो के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस दिन अपनी सभ्यता और संस्कृति को बचाए रखने की कोशिश और उसके नतीजो का भी एक आंकलन हो जाता है। उन्नत विरासत और कला-संस्कृति, नृत्य, संगीत, प्रकृति से प्रेम करने वाले आदिवासियो के लिए आज का दिन बहुत मायने रखती है।
आज के दिन झारखंड आदिवासी सशक्तिकरण एवं आजीविका परियोजना के तहत कल्याण विभाग सखी मण्डल के तर्ज़ पर युवा समूह का निर्माण कराता है। जिसमे युवाओ को स्वरोजगार के लिए प्ररित किया जाता है। परियोजना के तहत युवाओ को मधुमक्खी, पशुपालन, बेकरी सहित कुल 21 रोजगारो के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

 

उज्जवल कुमार सिन्हा

Leave a Reply

Your email address will not be published.