पटना के कलाकारों के लिए धाक -ए-धनुचि की सौगात

पटना के कलाकारों के लिए धाक -ए-धनुचि की सौगात

गुरूवार की शाम ,फिल्म डायरेक्टर रुचिन वीणा चैनपुरी ने लज़ीज़ तंदूरी , ग्रैंड प्लाजा , फ़्रेज़र रोड में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। प्रेस कॉन्फ्रेंस का मुख्य उद्देश्य उनकी नई आनेवाली फिल्म धाक -ए –धानुचि की घोषणा करने के लिए आयोजित किया गया था।

फिल्म की कहानी एक मूर्तिकार के जीवन पर आधारित है। मूर्तिकार , खासकर दुर्गा पूजा के समय समाज में एक अहम भूमिका निभाता है। वो सिर्फ एक मूर्ति नहीं बल्कि 50 से भी अधिक मूर्तियों को जान देता है। कही न कही उसका एक आंतरिक लगाव हो जाता है। लेकिन एक दिन , उसकी बनाई हुई सारी मूर्तियों को पूजा के लिए पंडालों में स्थापित की जाती है। सारे लोग वहां  10 दिनों तक उन मूर्तियों की पूजा करते है , और आखिरी दिन उन मूर्तियों को विसर्जित कर दिया जाता है। यह क्रिया मूर्तिकार को कही न कही अंदर ही अंदर ठेस पाहुचांती है। फिल्म में इस कहानी के साथ-साथ एक पुलिस अधिकारी की कहानी भी है। फिल्म के अंत में दोनों कहानियां एक दुसरे से मिलती है।

फिल्म का निर्माण कॉस्मो प्रॉडक्शन के अंतर्गत किया जा रहा है। फिल्म की शूटिंग पटना , देवघर और कोलकाता में होगी। फिल्म में मुख्या किरदार में विनीत सिंह ,सहर्ष शुभम ,शिवांशु सिंह सत्या ,जिया गांगुली ,शम्पा चटर्जी ,सुबन्ति बनर्जी ,विक्रांत चौहान ,रवि कौशिक ,रणजीत राज ,सुशिल कुमार ,विजय यादव ,अनूप कुमार, रूबी खातून , अमर शर्मा ,निहाल कुमार दत्ता ,संभवी ,जय सिंह ,आकाश फ्रांसिस ,बेबी समर, राजवीर ,गुंजन सिंह राजपूत ,शिवम्सिंह और उद्देश्य राज। फिल्म में टेक्निकल डायरेक्टर और मीडिया एडवाइजर के रूप में फ्रैंक कृष्नर रहेंगे। सिनेमेटोग्राफीका जिम्मा ऐजाज हुसैन करेंगे। फिल्म में गीत नीरज कुमार और प्राची माथुर देंगी।

SEE ALSO  नई सिलेबस के आधार हो सकती है 65वीं बीपीएससी की परीक्षा

फिल्म के डायरेक्टर ने कहा क़ि फिल्म की शूटिंग  9 सितम्बर से शुरू होगी। अनुमान लगाया जा रहा है क़ि फिल्म की शूटिंग दिसंबर तक पूरी हो जाएगी। फिल्म की पूरी पोस्ट प्रोडक्शन मार्च तक पूरी करके अप्रैल में फिल्म की स्क्रीनिंग करेंगे। कलाकारों में पटना रंगमच के कुछ कलाकार और कुछ संत ज़ेवियर कॉलेज के छात्र मुख्य भूमिका में नज़र आएंगे।

शिवांशु सिंह सत्या

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.