बिना थैले के बाज़ार गए तो लौटना पड़ेगा खाली हाथ

बिना थैले के बाज़ार गए तो लौटना पड़ेगा खाली  हाथ

24 सितम्बर से राजधानी समेत पटना के अन्य शहरी क्षेत्रों में पॉलिथीन पर प्रतिबन्ध लागु हो जायेगा। यानी की पॉलिथीन बैन होने में सिर्फ 10 ही दिन बचे है। पॉलिथीन बैग में सब्जी , राशन एव अन्य घरेलु सामान लाने – ले जाने की सुविधा अब नहीं मिलेगी। इसलिए अगर राशन की दुकान पर , सब्जी की मंडी में कपड़े का थैला लेकर जाने की आदत डाल ले। 24 सितम्बर से सभी दुकानदारों को निर्देश दिया गया है की सामान देने में वो पॉलिथीन बैग का उपयोग ना करें। राजधानी पटना समेत सभी शहरी क्षेत्रों में 50 माइक्रोन से पतला पॉलिथीन नहीं दिखेगा। पर्यावरण सुरक्षा के लिए उठाये गए इस कदम के मद्देनज़र पटना के बाज़ार इसकी तयारी में जुट गए है। पटना सिटी में कागज़ का ठोंगा बनानेवालों ने अपना उत्पादन तेज़ कर दिया है। वही दूसरे राज्यों से जुट के थैले भी मंगाए जा रहे है।

पॉलिथीन बैग के बंद होने के बाद झोला लोगों के लिए मुख्य विकल्प के तौर पर सामने आ रहा है। फुटपाथ पर सब्जी बेचने वाला हो या राशन दूकानदार , पहले 5 रूपए का सामान लेने पर भी मुफ्त में पॉलिथीन दे देते थे। अब छोटे मोटे सामान तो कागज़ के ठोंगे में मिल जायेंगे , पर ज्यादा सामान लेने के लिए झोला रखना अनिवार्य होगा। वही दुकानदारों का कहना है की कागज़ का ठोंगा तो मुफ्त में दिया जा सकता है , लेकिन अगर सामान ज्यादा होगा और ग्राहक उसके लिए झोला मांगेंगे तो उसकी कीमत भी जोड़ी जाएगी।

शिवांशु

One Response to "बिना थैले के बाज़ार गए तो लौटना पड़ेगा खाली हाथ"

  1. Neha   September 15, 2018 at 2:09 pm

    I was waiting for this step to be taken… good step towards environmental issues… everyone should agree and obey this…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.