बिहार को मिली 8000 किलोमीटर सड़क की सौगात 

बिहार को मिली 8000 किलोमीटर सड़क की सौगात 

बिहार में मुख्यमंत्री ग्राम संपर्क योजना में विश्व बैंक और ब्रिक्स बैंक के सहयोग से चार -चार हज़ार किलोमीटर सड़क बनने का प्रस्ताव पारित किया गया है। ये जो भी सड़कें होंगी राज्य सरकार इसे अपने स्तर पर बनवा रही है। इसमें केंद्र का किसी भी प्रकार का कोई योगदान नहीं होगा। बिहार में मुख्यमंत्री  ग्राम संपर्क योजना के अंतर्गत 35 हज़ार किलोमीटर सड़क बननी है।

इस योजना के अंतर्गत 8000 किलोमीटर सड़क बन चुकी है। इस वर्ष 1500 किलोमीटर सड़क निर्माण का टेंडर निकाला गया है। द्वितीय चरण  में 500 किलोमीटर का टेंडर अक्टूबर महीने में निकला जायेगा। शेष सड़कें 5 साल में बन कर तैयार होंगी। बरसात के मौसम के बाद इन सड़कों के  निर्माण कार्य में तेज़ी आएगी। बिहार की मौजूदा सरकार ने विश्व बैंक के समक्ष 5000 किलोमीटर सड़क बनाने का प्रस्ताव भेजा था। प्रथम चरण में 4000 किलोमीटर ,जबकि शेष सड़क दूसरे चरण में बनेगी। इस कार्य में कुल खर्च 3600 करोड़ रूपए आएगा। इसमें 70 प्रतिशत राशि विश्व बैंक प्रदान करेगी , जबकि बाकि के 30  प्रतिशत राज्य सरकार देगी ।

इसी तरह ब्रिक्स बैंक को भी राज्य सरकार ने 10 हज़ार किलोमीटर सड़क निर्माण का प्रस्ताव दिया था। इसमें प्रथम चरण में 4000 किलोमीटर सड़क बनाने की मंज़ूरी मिली है। इस कार्य में कुल खर्च 3600 करोड़ रूपए होगा।

 

शिवांशु

SEE ALSO  नई सिलेबस के आधार हो सकती है 65वीं बीपीएससी की परीक्षा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.