इमरजेंसी सेवाओं के लिए पुरे देश में होगा एक ही नंबर 112

इमरजेंसी सेवाओं के लिए पुरे देश में होगा एक ही नंबर 112

पुलिस, फायर , एम्बुलेंस या आपदा के लिए होगा एक ही नंबर 112।  आपत्कालीन सेवाओं के लिए आने वाले वक़्त में सिर्फ एक ही नंबर होगा।  112 नंबर पर फ़ोन कर इमरजेंसी की स्थिति में मदद ली जा सकेगी।

अभी पुलिस के लिए 100, एम्बुलेंस के लिए 108, और आग लगने पर फायर ब्रिगेड के लिए 101 नंबर लगाना पड़ता है।  मगर आगामी दिनों में आपदा की घडी में 112 नंबर डायल करना होगा।

यह हाईटेक् वेवस्था ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) से जुड़ा होगा| इसका फायदा यह होगा की फ़ोन करने वाले का लोकेशन भी उसके कॉल के साथ कंट्रोल रूम को मिल जायेगा।  वहा से कौन सी पुलिस पार्टी और कौन सी एम्बुलेंस या दूसरी मदद जल्द पहुंच सकती है यह देखा जा सकता है।  इससे रिस्पांस टाइम भी कम होगा और लोगो को जल्द मदद मिल सकेगी।

इसका नाम नेशनवाइड इमरजेंसी रिस्पांस सिस्टम से बदल के इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम कर दिया गया है।  इसका निर्माण राजवंशी नगर स्थित वायरलेस परिसर में करने की योजना है।  12.29 करोड़ की राशि आधारभूत संरचना के साथ ही अन्य सामान की खरीद पर खर्च किये जायेंगे।  भारत सरकार ने इस परियोजन को सी-डेक को सौपा है, जो इस पर काम कर रही है।  उसी के देख रेख में कण्ट्रोल रूम तैयार किया जायेगा।

 

 

मधुकर पाठक

Leave a Reply

Your email address will not be published.