नई सिलेबस के आधार हो सकती है 65वीं बीपीएससी की परीक्षा

नई सिलेबस के आधार हो सकती है 65वीं बीपीएससी की परीक्षा

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) सिविल सेवा परीक्षा के सिलेबस में बदलाव होगा। बीपीएससी ने नया सिलेबस तैयार कर लिया है पर अगले 16 दिसम्बर को होने वाली 64वीं बीपीएससी सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा में नया सिलेबस लागू होने की संभावना नहीं है।  65वीं की परीक्षा नए सिलेबस के आधार पर होगी।

बीपीएससी के सिलेबस में 10 प्रतिशत सवाल बिहार से संबंधित होंगे और 90 प्रतिशत सवाल यूपीएससी के करिकुलम से होगा। नया सिलेबस हूबहू यूपीएससी के सिलेबस के समान होगा। इसे इस तरीके से तैयार किया गया है कि यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करनेवाले छात्रों को बीपीएसएसी परीक्षा की तैयारी करने में कोई पपरेशानी नहीं होगी।

स्थानीय खबरों के अनुसार एग्जाम के पैटर्न मे 150 अंकों का होगा साक्षात्कार, 150 अंकों की होगी प्रारंभिक परीक्षा और 900 के तीन पेपर मुख्य परीक्षा में होंगे.
फिलहार यूपीएससी व बीपीएससी के सिलेबस में काफी अंतर है। इससे छात्रों को दोनों परीक्षाओं के लिए अलग-अलग तैयारी करनी पड़ती है। दोनों परीक्षाओं का सिलेबस एक समान होने से परीक्षार्थियों को काफी सुविधा होगी।

आयोग के सदस्य प्रो. रामकिशोर शर्मा की अध्यक्षता में सिलेबस तैयार किया गया है। आयोग बोर्ड की बैठक में इस पर मुहर लगाना बाकी है। इसके बाद इसे राज्य सरकार के पास मंजूरी के लिए भेजा जाएगा।

बता दे की बीपीएससी पिछले एक साल से सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस तैयार कर रहा था और अब यह तैयार हो चुका है साथ ही रिजल्ट के लिए कैलेंडर भी तैयार हो गया है। अब सिविल सेवा परीक्षा का अंतिम रिजल्ट 10 माह में हर हाल में घोषित कर दिया जाएगा।

SEE ALSO  Freedom of expression, as absolute as it can be

Leave a Reply

Your email address will not be published.