शहरी समृद्धि उत्सव का स्वाद भरा शुभारंभ

शहरी समृद्धि उत्सव का स्वाद भरा शुभारंभ

मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स द्वारा लगाए गए मेले में स्ट्रीट फूड मुख्य आकर्षण का केंद्र

नई दिल्ली। शुक्रवार से दिल्ली के जनपथ पर शहरी समृद्धि उत्सव का भव्य शुभारंभ हुआ। मेले की औपचारिक शुरुआत मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स के सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा और हरयाणा सरकार की मंत्री कविता जैन के आतिथ्य में हुई। इस मेले में देश के विभिन्न राज्यों से आए स्ट्रीट फूड वेंडर्स के स्टॉल मुख्य आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। यह मेला 17 फरवरी तक चलेगा। 

बृहस्पतिवार को हुई बारिश और ओलावृष्टि के बाद शुक्रवार के खुले, गुलाबी मौसम के बीच शहरी समृद्धि उत्सव का आगाज़ हुआ। उत्सव में देश के अलग अलग राज्यों से पटरी दुकानदार अपने हुनर के साथ मौजूद हैं। मेले के एक हिस्से में हस्तशिल्प और दूसरे हिस्से में क्षेत्रीय व्यंजनों का यह अनूठा संगम है। मेले का औपचारिक उद्घाटन के समय, मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग एंड अर्बन अफेयर्स के  सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा, हरयाणा सरकार की अर्बन डेवलपमेंट मिनिस्टर कविता जैन, अर्बन अफेयर्स के ज्वाइंट सेक्रेटरी संजय कुमार और नासवी (नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया) की नेशनल प्रोग्राम हेड संगीता सिंह मौजूद रहीं। 

 उद्घाटन सत्र के बाद सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा और मंत्री कविता जैन ने मेले में लगे स्टालों का अवलोकन किया। तंदूरी चाय, कुल्फी व अन्य स्वादों को उन्होंने खूब सराहा। गौरतलब है इस मेले में 40 स्ट्रीट फूड स्टॉल्स हैं। हैदराबाद का पत्थर गोश्त, कश्मीर की नून चाय, लखनऊ की दम बिरयानी, तरह तरह की चाट, व अन्य व्यंजनों से यह मेला सजा है। ज्वाइंट सेक्रेटरी संजय कुमार ने बताया कि मंत्रालय द्वारा यह उत्सव इस वर्ष दो सप्ताह के लिए लगाया गया है। जिससे लोगों को यह आभास हो सके कि शहरी समृद्धि में इन पटरी दुकानदारों का खासा योगदान है। 

SEE ALSO  Street Food spices up New Delhi City Fest

 नासवी की प्रोग्राम हेड संगीता सिंह ने बताया कि देश के चुनिंदा स्ट्रीट फूड वेंडर्स को इस मेले के लिए चुना गया है। यह देश के छोटे छोटे रेहड़ी पटरी वालों के सर्वांगीण विकास का द्योतक है। उनके विकास से ही शहरी समृद्धि संभव है। उनकी आजीविका और उनके हुनर को राष्ट्रीय स्तर का प्लेटफार्म मिलना सुखद अनुभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.