विकट परिस्थिति मे मिल रहा पटना को नव युवाओं का साथ

विकट परिस्थिति मे मिल रहा पटना  को नव युवाओं का  साथ

4 दिनों की लगातार बारिश के बाद सूर्य अपनी तेज से कई इलाको मे जमे पानी को सुखा चुका है, लोग राहत की सांस ले रहे है मगर अभी भी कई ऐसे इलाके है जो बुरी तरह से प्रभावित है, जो राहत के मौहताज है।

इस विकट परिस्थिति मे कई नव युवक-युवतियाँ है जो किसी क्लब या संस्था से जुड़ कर राहत कार्य मे सहयोग दे रहे है।

राहत कार्य मे भाग लिए संत ज़ेवियर कॉलेज के छात्र और प्रीमीयर लीग एंटरटेनमेंट (इवैंट कंपनी) के सदस्य किंशु कुमार कहते है इस राहत कार्य मे सबसे ज्यादा खुशी हमे राजेन्द्र नगर 2 B मे प्रयास (एक संस्था) मे फसे 60 बच्चे को NDRF की मदद से निकाल कर मिली। उनमे 2 बच्चों की तबेत ज्यादा खराब थी। हमने उन्हे राहत शिविर मे भर्ती कराया और कुछ स्थानीय बच्चों को भी सुरक्षित उनके घर पहुंचाया।

4 दिनों मे पहले दिन हमने लोगों मे नाश्ता का प्रबंध कराया फीर लोगों की मांग को देखते हुये पानी, दूध, दवाइयाँ, मोमबतियाँ और मचिसे बाँटी।     

एनएसएस (नेशनल सर्विस स्कीम) के संत ज़ेवियर कॉलेज की इकाई और थिएटर क्लब के सदस्य उद्देश्य कुमार कहते है अभी तक हमने 6 दिन लोगों के बीच जाकर उनकी थोरी मदद की है। पानी से बुरी तरह से प्रभावित जगह जैसे शिवाजी पार्क, मलाई पकरी, राजेंद्र नगर के दिनकर गोलंबर और रोड नंबर 1, 2, 3, 5, 6, 11 और 12 मे लोगों को खाद्य सामाग्री और पानी बांटे। सबसे ज्यादा मुश्किल नवरात्रि कर रहे लोगों को हो रही है, उन लोगों की जरूरत के हिसाब से दूध भी बाँट रहे है। यह सामग्री कॉलेज के स्टाफ और स्थानीय लोगों ने डोनेट किया   

SEE ALSO  डेंगू से बिहार मे हाहाकार

संत मेरी चर्च मे स्थित ICUF के कुछ सदस्यों ने भी राजेंद्र नगर मे कुछ सामाग्री देर रात तक बांटी।

अभी पटना के कुछ इलाके पुजा का माहौल और रंग- बिरंगे पंडालो के साथ खुशियों से भरे है  पर के कई इलाके ऐसे भी है जो आई परेशानी से निकलने की कोशिश कर ही रहे है।    

Leave a Reply

Your email address will not be published.