9650 मामलों को निपटा कर झालसा ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

9650 मामलों को निपटा कर झालसा ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

झारखंड के झालसा एक दिन में 9650 मामलों को निपटा कर नया वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम किया है। झालसा के कार्यकारी चेयरमैन जस्टिस एचसी मिश्र ने कहा कि यह राज्य के लिए गौरव की बात है। पूरे विश्व में यह पहला मौका है, जब किसी राज्य विधिक सेवा प्राधिकार ने ऐसा रिकॉर्ड कायम किया है। कम समय में ही झालसा की टीम ने इस तरह का सफल आयोजन किया था।

उन्होंने बताया कि पिछली बार राज्य के विश्वविद्यालय में लंबित सेवानिवृत्त लाभ के मामलों के लिए लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें बहुत मामलों को निपटारा किया गया था। इसी तरह सीसीएल के प्रीलिटिगेशन के मामलों की सुनवाई होती थी और कंपनी की ओर से अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति पत्र दिया जाता था। इसी दौरान कोल इंडिया में लंबित मामलों के सुनवाई के लिए विशेष लोक अदालत लगाने के बारे में चर्चा हुई। झालसा की टीम ने सीसीएल और बीसीसीएल से संपर्क कर दस हजार मामलों की सुनवाई करने के लिए लोक अदालत का आयोजन किया।

इससे पहले उन्होंने इस उपलब्धि के बारे में हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ. रवि रंजन को जानकारी दी। उन्होंने इसके लिए जस्टिस एससी मिश्र व झालसा की टीम को बधाई दी। इस दौरान हाईकोर्ट के सभी जज, रजिस्ट्रार जनरल अंबुज नाथ, झालसा के सचिव एके राय, संतोष कुमार सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। दरअसल, संविधान दिवस (26 नवंबर 2019) को झालसा की ओर से सीसीएल और बीसीसीएल के लंबित मामलों के लिए विशेष लोक अदालत का आयोजन किया गया था। इसमें दस हजार मामलों की सुनवाई की गई, जिसमें से 9650 मामलों का निपटारा किया गया और 9711 लोगों को लाभ दिया गया। इस दौरान 374 करोड़ रुपये का सेटलमेंट किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.