प्रगति की ओर : बी-डबल्यू-डी-एस

बिहार वाटर डेवलपमेंट सोसायटी एक निर्लाभ संगठन है। जिसकी स्थापना सन् 1967 में हुई थी। इसका कार्यालय सेवा केंद्र, कुर्जी, पटना में स्थित है। यह संस्था लगभग हर छेत्र जैसे महिला एवं बाल विकास, युवा कौशल, आपदा प्रबंधन, ग्राम विकास आदि में अपना सहयोग दे रही है। 

    बिहार वाटर डेवलपमेंट सोसायटी यानी BWDS  के द्वारा BMZ ग्लोबल प्रोग्राम नवादा जिला के कौवाकोल प्रखंड के 5 पंचायत के 20 गांव में शुरू किया गया है। ग्लोबल प्रोग्राम का उद्देश्य सुखद प्रभावित क्षेत्रों में आपदा के जोखिम को कम करना है।

जुलाई महीने में BWDS  द्वारा 235 और बिहार फोरम के द्वारा 65–300 लोगों के बीच राशन तथा मास्क, सैनिटाइजर वितरित किया गया। 23 जुलाई को humanitarian रिस्पॉन्स हाइजीन किट का वितरण किया गया, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर रामप्रिय सहगल, स्वास्थ्य प्रबंधक श्री रविचंद्र, BWDS के निदेशक फादर जेम्स शेखर, ग्राम निर्माण मंडल सोखोदेवरा सचिव श्री अरविंद कुमार , डॉक्टर भारत भूषण एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स, 7 ANM और 20 आशा प्रतिभागियों ने भाग लिया।

जुलाई महीने में ही PDRA ट्रेनिंग 26 से 30 जुलाई तक सेवा केंद्र, दुसैया में दिया गया तथा अगस्त महीने में BMZ ग्लोबल प्रोग्राम के 20 गांव में PDRA किया गया जिसमें 20 गांव के 522 लोगों ने भाग लिया। 

BWDS ने महिला उन्नति परियोजना की शुरुआत की है।

योजना के तहत महिला किसानों को खाद, बीज तथा उर्वरक उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना की प्रगति के आंकलन के लिए एक समीक्षा बैठक बुलाई गई थी। बैठक सेवा केंद्र, कुर्जी, पटना के सभागार में दिनांक 5 अगस्त को सुबह 9:30 बजे हुई। बैठक में सभी एनीमेटरों ने अपने अपने छेत्र में हुई प्रगति के बारे में बताया। डेमो प्लॉट में लगाए गए धान का जिक्र करते हुए रविप्रकाश ने बताया की हरनौत प्रखंड में सभी धन अच्छे हैं, खेतों में पानी भरा हुआ है। उधर सुपरवाइजर श्रीमती सुप्रिया कुमारी ने बताया की बरियारपुर प्रखंड में बाढ़ के पानी से मकई की फसल बर्बाद हो गई है।  यह परियोजना 2021 तक मान्य है, उसके बाद अन्य योजनाओं को कार्य में लाया जाएगा। 

    BWDS की एक अन्य परियोजना समेकित ग्राम विकास परियोजना एवं संपूरक शिक्षा केंद्र भी है।

CVD परियोजना नालंदा जिला के सिलाव प्रखंड के 9 पंचायतों के 45 गांवों में प्रत्येक माह निर्धारित कार्य किए जाते हैं। इसके अंतर्गत शिक्षा, स्वास्थ्य एवं स्वयं सहायता समूह एवं सरकारी योजनाओं पर कार्य किया जाता है। 

दिनांक 21 से 23 जुलाई को संपूरक शिक्षा के बच्चों को BWDS सेवा केंद्र, पटना में जीवन कौशल, व्यवहारिक बदलाव एवं व्यक्तित्व विकास हेतु 3 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण में 9 गांवों से SEC के 45 बच्चों ने भाग लिया। जुलाई माह में दिनांक 14, 15, 16 को BWDS  के शाखा कार्यालय, नवादा में स्वयं सहायता समूह की 129 महिलाओं को आजीविका, क्षमता निर्माण, सरकारी जन कल्याणकारी  एवं विकास योजनाओं की जानकारी देने हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम किया गया। 

 कार्यक्रम में सरकारी योजनाओं जैसे शिक्षा, स्वास्थ्य योजना, कौशल विकास योजना, नल जल योजना, किसान सम्मान निधि योजना इत्यादि को प्राप्त करने के बारे में विस्तार रूप से जानकारी दी गई। दिनांक 10 से 25 अगस्त तक 45 गांवों में महिलाओं एवं बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य पोषण एवं खाद्य सुरक्षा पर ग्राम स्तरीय बैठक एवं जागरूकता अभियान रैली चलाई गई। इसका उद्देश्य अभिभावकों एवं ग्रामीणों को स्वस्थ रहने के लिए साफ–सफाई, संतुलित आहार, टीकाकरण, आंगनबाड़ी द्वारा प्राप्त गर्भवती महिलाओं और बच्चों के पोषाहार के बारे में जागरूक करना है। 

    यह संस्था हर तरीके से लोगों के कल्याण हेतु कार्यरत है। 

[Prepared by Seema Kisku from available documents]